Breaking News
Home / खबरे / मीडिया पर बुरी तरह भड़की शिल्पा शेट्टी कोर्ट पहुंचकर मांगा हर्जाना

मीडिया पर बुरी तरह भड़की शिल्पा शेट्टी कोर्ट पहुंचकर मांगा हर्जाना

एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी के पति इन दिनों पोर्नोग्राफी मामले में फंसे हुए हैं ऐसे में शिल्पा शेट्टी ने सोशल मीडिया और वेबसाइट पर उनके बारे में छाप रहे हैं उटपटांग खबरों को लेकर मुंबई हाई कोर्ट का रुख कर लिया है। शिल्पा ने अपनी एक एप्लीकेशन में लिखा क्यों उनके बारे में लिखे गई खबरें सही नहीं है और काफी अपमानजनक हैं। जिसके चलते हैं उनकी प्रतिष्ठा को काफी नुकसान पहुंच रहा है। उन्होंने कोर्ट से इन सब खबरों को रोकने की मांग की। शिल्पा शेट्टी ने कोर्ट में दायर एप्लीकेशन में कुछ मीडिया कंपनी पर छापेमारी कर उनके बारे में छपे गलत खबरों को डिलीट करने और बिना शर्त माफी मांगने और ₹25000 हर्जाना देने की मांग की है।

शिल्पा ने कहा मुझे जानबूझकर घसीटा जा रहा है

शिल्पा शेट्टी ने अपने एप्लीकेशन में लिखा कि उनके पति राज कुंद्रा पर चल रहे किसको लेकर उनको जबरदस्ती इस मामले में घसीटा जा रहा है। बिना किसी पुख्ता सबूत के उन्हें इस मामले से जोड़ा जा रहा है। शिल्पा का कहना है कि इन सब के चलते उनके सम्मान को भारी ठेस पहुंची है। उन्होंने कहा कि उनका नाम उनके पति के साथ जोड़ा जा रहा है जो अपने पति के साथ क्राइम में शामिल थी। साथ ही शिल्पा ने कुछ ऐसी एप्लीकेशन का भी जिक्र किया है जिनमें उनके बारे में काफी गलत छपा है इसके चलते ना कि सिर्फ शिल्पा की बदनामी हुई है बल्कि उनकी छवि भी काफी खराब हो चुकी है।

उनके बिजनेस पर पड़ रहा बुरा असर

शिल्पा शेट्टी ने अपने आवेदन में लिखा कि इन सब गलत खबरों के चलते उनके बिजनेस पर बुरा असर पड़ रहा है। इन गलत छपा आर्टिकल ओं में उनके फैंस फॉलोअर्स ब्रांड एंडोर्समेंट कंपनियां मैं इनकी इज्जत काफी कम हो गई है। जिसके चलते हैं उन्हें भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि इन वेबसाइट पर छपी खबरों से उनके परिवार की प्रतिष्ठा को गहरा आघात पहुंचा है लॉगिन गलत गलत खबरों पर यकीन करने लग गए हैं। शिल्पा ने लिखा कि उनके माता-पिता को भी इन खबरों के चलते अपमानजनक और नफरत भरी बातें सुनने को मिल रही हैं।

भारतीय संविधान आर्टिकल 21 का दिया हवाला

शिल्पा शेट्टी ने अपने आवेदन में संविधान के आर्टिकल 21 का हवाला देते हुए लिखा कि उनकी प्रतिष्ठा और सम्मान पर गहरा असर पड़ा है। ‌ ऐसे में उनके खिलाफ से पर ही गलत खबरों पर रोक लगाई जाए और गलत खबर छापने वालों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्रवाई किए जाने की मांग की है।

 

 

About Mohit Swami

Leave a Reply

Your email address will not be published.