Breaking News
Home / खबरे / रोहित शर्मा की कप्तानी में एशिया कप से बाहर हुई भारतीय टीम, लोगों को याद आए धोनी और कहा एक था जो विकेट के पीछे से मैच पलट देता था

रोहित शर्मा की कप्तानी में एशिया कप से बाहर हुई भारतीय टीम, लोगों को याद आए धोनी और कहा एक था जो विकेट के पीछे से मैच पलट देता था

महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास के बाद से ही भारतीय टीम एक ऐसे विकेटकीपर बल्लेबाज को तलाश रही है जो ना सिर्फ शानदार बल्लेबाजी करे बल्कि गेंदबाजों का हौसला भी बढ़ाते हुए टीम को मुकाबले तक जिता दें लेकिन उनके संन्यास के बाद अभी तक भारतीय टीम को उनका जैसा खिलाड़ी नहीं मिला है। विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम द्विपक्षीय श्रृंखला में तो बढ़िया प्रदर्शन करती थी लेकिन आईसीसी के बड़े टूर्नामेंट में विराट कोहली की कप्तानी कुछ अच्छी नहीं रहती थी और इसी वजह से अब भारतीय टीम की कप्तानी रोहित शर्मा संभाल रहे थे। रोहित शर्मा विराट कोहली की तरह द्विपक्षीय श्रृंखला में तो शानदार प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन आइए आपको बताते हैं कैसे एशिया कप जैसे बड़े टूर्नामेंट में भारतीय टीम को मिली हार के बाद अब लोगों को महेंद्र सिंह धोनी की याद आने लगी है।

धोनी की कप्तानी में भारतीय टीम करती थी शानदार प्रदर्शन, रोहित की कप्तानी से निराश नजर आ रहे हैं लोग

रोहित शर्मा की कप्तानी में भारतीय टीम एशिया कप के फाइनल तक भी नहीं पहुंच सकी। इस मुकाबले में लोगों को उम्मीद थी कि श्रीलंका के खिलाफ भारतीय टीम जीत दर्ज करके फाइनल में जगह बनाने में कामयाब हो जाएगी लेकिन पहले तो बल्लेबाजों के गैर जिम्मेदाराना शॉट और उसके बाद रोहित शर्मा की कप्तानी की वजह से लोगों को अब सवाल करने का मौका मिल गया है। कुछ लोग तो यह कहते नजर आए कि महेंद्र सिंह धोनी वाकई में सबसे शानदार कप्तान थे क्योंकि वह अपने खिलाड़ियों की बात सुनते थे लेकिन रोहित शर्मा को पिछले दो मुकाबलों में देखा जा रहा है कि हर छोटी बात पर वह अपना आपा खो रहे हैं। आइए बताते हैं किस वजह से महेंद्र सिंह धोनी को रोहित शर्मा और विराट कोहली से बेहतरीन कप्तान साबित किया जा रहा है.

धोनी की कप्तानी में पाकिस्तान से एक भी मुकाबला नहीं हरा था भारत, हारे हुए मुकाबले को जीत जाती थी टीम

महेंद्र सिंह धोनी ने अपने कप्तानी में कई ऐसे अनगिनत मौके दिए हैं जिसे आज भी भारतीय टीम याद करके उनका शुक्रिया अदा करती है। विराट कोहली और रोहित शर्मा की कप्तानी में भारतीय टीम पाकिस्तान से एशिया कप और आईसीसी के बड़े टूर्नामेंट में हार चुकी है लेकिन महेंद्र सिंह धोनी इकलौते ऐसे कप्तान थे जिन्होंने एशिया कप के एक मुकाबले में पाकिस्तान को एक भी मौका नहीं दिया जीत दर्ज करने का। एशिया कप में धोनी के कप्तानी में भारतीय टीम चार बार पाकिस्तान की टीम से भिड़ी जिसमें चारों ही बार महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी कप्तानी में भारत को विजयी बनाया। श्रीलंका के खिलाफ मिली हार की वजह से महेंद्र सिंह धोनी को याद कर रहे हैं क्योंकि उनका कहना है कि कोई था जो विकेट के पीछे से ही इस मुकाबले का रुख बदल कर रख देता था और अब लोग उन्हें याद कर रहे है।

About Nausheen Ejaz

Leave a Reply

Your email address will not be published.