Breaking News
Home / खबरे / धोनी नही बल्कि ये खिलाड़ी नही होता तो आज नही पूछता रोहित शर्मा को कोई भी, आज भी करते है रोहित शर्मा इसका शुक्रिया ये है वजह

धोनी नही बल्कि ये खिलाड़ी नही होता तो आज नही पूछता रोहित शर्मा को कोई भी, आज भी करते है रोहित शर्मा इसका शुक्रिया ये है वजह

भारतीय टीम के नियमित कप्तान रोहित शर्मा को वेस्टइंडीज के खिलाफ तीसरे टी-20 मुकाबले में बैक इंजरी की वजह से बीच मुकाबले में मैदान छोड़कर जाना पड़ा था लेकिन आपको बता दें कि रोहित शर्मा बिल्कुल फिट है और चयनकर्ताओं ने इस बात का ऐलान कर दिया है कि रोहित मैदान पर बाकी बचे 2 टी20 मुकाबलों में वापसी करेंगे। यह बात तो सभी को पता है कि रोहित शर्मा का क्रिकेट करियर महेंद्र सिंह धोनी ने उन्हें सलामी बल्लेबाज के तौर पर उतारकर बदल दिया लेकिन बहुत कम लोगों को पता होगा कि रोहित शर्मा को सलामी बल्लेबाज के रूप में उतारने का असली श्रेय भारतीय विकेटकीपर दिनेश कार्तिक हो जाता है जो इस समय रोहित शर्मा की कप्तानी में बल्ले से आग उगल रहे हैं। आइए आपको बताते हैं कैसे रोहित शर्मा को सलामी बल्लेबाज के रूप में उतरने में दिनेश कार्तिक का एक अहम योगदान है.

दिनेश कार्तिक की वजह से मिली थी रोहित को सलामी बल्लेबाजी, धोनी का नही है था इसमें इतना बड़ा हाथ

एक समय में रोहित शर्मा ने जब अपना क्रिकेट करियर शुरू किया था तब वह आमतौर पर पांचवें या छठे नंबर पर बल्लेबाजी करते थे। शुरुआती के 30 मुकाबले तक रोहित शर्मा का बैटिंग एवरेज 25 से भी नीचे था लेकिन महेंद्र सिंह धोनी अपनी कप्तानी में उन्हें लगातार मौके देते रहते थे जिसकी वजह से लोग उनकी खूब आलोचना करते थे। रोहित को जब भी बल्लेबाजी का मौका मिलता था तब वह विफल हो जाते थे लेकिन महेंद्र सिंह धोनी को उनके ऊपर भरोसा था लेकिन एक चमत्कार तब हुआ जब ऑस्ट्रेलिया दौरे पर दिनेश कार्तिक ने अपने बल्ले से शानदार प्रदर्शन करते हुए 146 रन ठोक दिए और अगले मुकाबले के लिए महेंद्र सिंह धोनी दिनेश कार्तिक को बतौर मध्य क्रम बल्लेबाज उतारना चाहते थे ना कि सलामी बल्लेबाज के रूप में। आइए आपको बताते हैं कैसे दिनेश कार्तिक को मध्यक्रम में खिलाना ही रोहित शर्मा की सबसे बड़ी मजबूती बन गई.

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उतरे बतौर सलामी बल्लेबाज, बदल गई थी रोहित शर्मा की क़िस्मत

दिनेश कार्तिक ने ऑस्ट्रेलिया में शानदार प्रदर्शन करते हुए 1 मुकाबलों में 146 रन बना दिए थे और महेंद्र सिंह धोनी उन्हें अपनी टीम में मध्यक्रम के बल्लेबाज रूप में उतारना चाहते थे यही वजह थी कि पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी कर रहे रोहित शर्मा को उन्होंने उस मुकाबले में सलामी बल्लेबाज के रूप में उतारा। महेंद्र सिंह धोनी का यह दांव बहुत ही शानदार साबित हुआ और उस मुकाबले में सलामी बल्लेबाज के रूप में उतरने वाले रोहित शर्मा ने ताबड़तोड़ अर्धशतक जड़ दिया। उस दिन पहली बार लोगों ने रोहित शर्मा की वह झलक देखी थी जिसकी काबिलियत उनके अंदर महेंद्र सिंह धोनी ने काफी वक्त पहले ही देख ली थी। रोहित के पहले ही मुकाबले में सलामी बल्लेबाज के रूप में अर्धशतक जड़ने के बाद उन्हें लगातार मौके मिलने लगे और इस तरह रोहित शर्मा को सलामी बल्लेबाज के रूप में मौका मिलने के पीछे दिनेश कार्तिक का भी अहम योगदान था।

About Nausheen Ejaz

Leave a Reply

Your email address will not be published.