Breaking News
Home / खबरे / सोलर एनर्जी को लेकर मुकेश अंबानी ने किया बड़ा ऐलान, भारत की चीन पर निर्भरता होगी खत्म

सोलर एनर्जी को लेकर मुकेश अंबानी ने किया बड़ा ऐलान, भारत की चीन पर निर्भरता होगी खत्म

भारत की सबसे अमीर हस्ती मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज का पूरे देश में सबसे बड़ा कारोबार है। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने कुछ दिनों पहले ग्रीन एनर्जी सेक्टर में कदम रखने का ऐलान किया था। यह खबर काफी बड़ी थी जिससे पूरे देश को फायदा होने वाला है अभी एक और घोषणा रिलायंस इंडस्ट्रीज ने की है। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने सोलर एनर्जी सेक्टर में भी कदम रखने की घोषणा कर दी है। इस घोषणा के बाद सोलर एनर्जी में भारत का बड़ा कदम होगा। रिलायंस इंडस्ट्रीज के इतने बड़े फैसले के बाद भारत की सोलर एनर्जी में चीन पर निर्भरता बहुत कम हो जाएगी।

यूरोप की सबसे बड़ी सोलर प्लांट कंपनी आरईसी से चल रही है बात

रिलायंस इंडस्ट्रीज यूरोप की सबसे बड़ी सोलर प्लांट निर्माता कंपनी आरईसी से इस बारे में बात कर रही है। चीन की नेशनल केमिकल कॉर्प अर्थात कैम चाइना कंपनी की इंटरनेशनल स्तर पर आरईसी के साथ साझेदारी है। आपको बता दें कि ग्रीन एनर्जी में रिलायंस इंडस्ट्रीज लगभग $600000000 का इन्वेस्टमेंट कर रही है। वही सोलर एनर्जी में रिलायंस इंडस्ट्रीज लगभग 1.2 अरब डॉलर में यह डील करेंगी।

चीन पर कम होगी निर्भरता

रिलायंस इंडस्ट्रीज के सोलर सेक्टर में उतरने के बाद भारत के सोलर एनर्जी में चीन पर निर्भरता काफी कम हो जाएगी। फिलहाल दुनिया में सोलर एनर्जी में चीन का एकतरफा राज है लेकिन धीरे-धीरे भारत समेत अमेरिका भी अपने स्थानीय व्यापारियों को सोलर एनर्जी सेक्टर में देखना चाहती है। सोलर प्लेट बनाने के लिए उपयोगी पॉली सिलिकॉन का लगभग एक तिहाई भाग चीन से ही आता है।

केमचाइना की Pirelli Tyres और Syngenta में सबसे अधिक हिस्सेदारी है। यूरोप की सबसे बड़ी सोलर प्लांट कंपनी आरएसी फोटोवॉल्टेइक एप्लिकेशंस और मल्टी क्रिस्टालाइन वैफर्स के लिए सिलिकॉन मटीरियल बनाती है। साथ ही कंपनी रूफटॉप इंस्टॉलेशन, इंडस्ट्रियल और सोलर पार्क्स के लिए सोलर सेल्स और मॉड्यूल्स बनाती है। सूत्रों के अनुसार इस डील के लिए 50 से 60 करोड़ के लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज ग्लोबल बैंक से भी बात कर रही है।

भारत देश में फिलहाल सोलर एनर्जी की क्षमता 3 गीगावॉट है जबकि 280 गीगावॉट की जरूरत है यह अंतर काफी बड़ा है। सूत्रों के अनुसार आने वाले कुछ दिनों में ही रिलायंस इंडस्ट्रीज और इसी के साथ होने वाले करार की औपचारिक घोषणा कर देंगे। अभी रिलायंस ने इस बारे में कुछ भी कहने से साफ इनकार कर दिया। आरईसी अब तक लगभग चार करोड़ सोलर प्लेट बना चुका है। रिलायंस इंडस्ट्रीज के इस कदम के बाद यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि वह अपने क्षेत्र को बढ़ा रहे हैं और नए क्षेत्रों में कदम रख रहे हैं।

About Mohit Swami

Leave a Reply

Your email address will not be published.