Breaking News
Home / खबरे / सड़क के किनारे बिक रहे करोड़ों के नोट देखे फोटो, वजह है की

सड़क के किनारे बिक रहे करोड़ों के नोट देखे फोटो, वजह है की

आपने सड़क के किनारे बहुत सी चीजें लोगों को बेचते हुए देखा होगा। लेकिन आपने ऐसा कभी नहीं देखा होगा कि सड़क के किनारे नोट बिक रहे हो। आपको बताना चाहेंगे कि अफ्रीका के सोमलिल्लैंड की सड़कों पर पैसों के बंडल रद्दी की तरह बिक रहे हैं। यह नोट बंडलो के रूप में सड़क के किनारे पड़े हैं और ना ही इनकी कोई सुरक्षा है। आपकी जानकारी के लिए बताना चाहेंगे कि सीमालीलैंड एक स्वघोषित देश है। इस देश को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अफ्रीका का हिस्सा माना जाता है।

सबसे गरीब देशों में होती है गिनती

यह एक ऐसा देश है जिसकी गिनती दुनिया के सबसे गरीब देशों में होती है। साल 1991 में गृह युद्ध के दौरान यह देश सोमालिया से अलग हो गया था। जिसके बाद इस देश में कोई सिस्टम ना होने की वजह से इस देश की करेंसी की हालत बहुत बुरी हो गई थी। बता दे किस देश में बहुत ज्यादा बेरोजगारी है। वहीं अंतरराष्ट्रीय स्तर की बात करें तो अभी तक इस देश को किसी भी अंतरराष्ट्रीय देश ने देश होने का दर्जा नहीं दिया है।

बहुत बुरा हाल है करेंसी का

गौरतलब है कि इस देश की करेंसी का काफी बुरा हाल है। अन्य देशों की तुलना में इस देश की करेंसी की कोई वैल्यू नहीं है। आपको बता दें कि अगर आप इस देश में दुकान पर ब्रेड खरीदने भी जाते हैं तो आपको बोरी भरकर नोट ले जाने होंगे। इस देश में ज्यादातर 500 और 1000 के नोट ही चलते हैं।

कम पैसों में बेचते हैं देश की मुद्रा

मुद्रा की वैल्यू बहुत कम होने के कारण इस देश के लोगों को चिंता है कि उनकी मुद्रा कहीं बेकार ना हो जाए यही कारण है कि वह सड़क के किनारे पैसों को बर्बाद होने से बचाने के लिए इन्हें बेच देते हैं। आपको बताना चाहेंगे कि इस देश में आप $10 से बहुत सारा सामान भी खरीद सकते हैं।

सड़कों के किनारे बेचते हैं

जैसा कि हमने आपको बताया किस देश की मुद्रा का बहुत बुरा हाल है इतनी ज्यादा बढ़ गई मुद्रास्फीति की वजह से लोग अपनी देश की मुद्रा बचाने के लिए इसे सड़कों पर कम पैसों में बेचने का काम करते हैं। यहां लोग अपने देश के नोटों को मंडलों में बांधकर सड़कों के किनारे बाकी लोगों को बहुत ही कम पैसे में बेच देते हैं जिससे इनकी देश की मुद्रा बची रहती है। इस देश में कोई भी सरकार और सिस्टम ना होने की वजह से देश की मुद्रा का इतना बुरा हाल है।

 

 

About Mohit Swami

Leave a Reply

Your email address will not be published.