Breaking News
Home / खबरे / आखिर क्यों जिंदा नहीं रह पाता कैलाश पर्वत पर चढ़ने वाला इंसान, यह है इसके पीछे का रहस्य

आखिर क्यों जिंदा नहीं रह पाता कैलाश पर्वत पर चढ़ने वाला इंसान, यह है इसके पीछे का रहस्य

दोस्तों दुनिया में ऐसी बहुत सी जगह है जो अपने अंदर बहुत से राज छुपाए हुए हैं। कोई भी इंसान अगर उन जगहों पर जाता है तो वह विश्वास ही नहीं कर पाता कि ऐसा भी हो सकता है। अगर मैं आपसे कहूं कि दुनिया में ऐसा पर्वत भी मौजूद है जहां जाने से आपकी उम्र तेजी से बढ़ने लग जाती है तो क्या आप यकीन करेंगे। तो मैं आपको बताना चाहूंगा कि यह सच है और यह पर्वत अपने देश भारत में ही मौजूद है। जी हां दोस्तों मैं बात कर रहा हूं कैलाश पर्वत की। कैलाश पर्वत अपने गर्भ में कितने राज छुपाए हुए हैं जिन्हें इंसान के समझने की बस की बात नहीं है। दुनिया में ऐसा कोई भी इंसान नहीं है जो आज तक इस पर्वत के ऊपर चढ़ पाया हो।

कैलाश पर्वत की ऊंचाई 6600 मीटर से भी अधिक है

यह पर्वत अभी के समय में चीन में मौजूद हैं। हिंदू पौराणिक मान्यताओं के अनुसार कैलाश पर्वत पर भगवान शिव का वास है। केवल हिंदू धर्म ही नहीं बल्कि बौद्ध धर्म और जैन धर्म के अनुयाई भी इस पर्वत को पवित्र मानते हैं। कहा जाता है कि इस पर्वत पर अलौकिक शक्तियों का वास है। कहा जाता है कि कैलाश पर्वत ऐसी जगह है जहां धरती और आकाश का मिलन होता है। रूस के वैज्ञानिकों ने अपने शोध में पाया कि इस पर्वत के चारों तरफ अलौकिक शक्तियां प्रवाह करती हैं।

माना जाता है धरती का केंद्र

धरती के उत्तरी ध्रुव और दक्षिणी ध्रुव है के बीच में स्थित हिमालय पर्वत पर स्थित है कैलाश पर्वत इसलिए इसको धरती का केंद्र भी माना जाता है। कहा जाता है कि कैलाश पर्वत आज तक अजय है। सबसे बड़े रहस्य की बात तो यही है कि आज तक धरती का कोई भी इंसान इस पर्वत पर नहीं चढ़ पाया है जबकि धरती की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट है। चीन की सरकार ने भी यहां चढ़ने के ऊपर रोक लगा रखी है। कहा जाता है कि जो भी यहां चढ़ने की कोशिश करता है वह दिशाहीन हो जाता है और उसकी मृत्यु निश्चित हो जाती है। ‌‌

पर्वतारोही हो गए थे गायब

कहा जाता है कि 19वीं सदी में कुछ पर्वतारोही ने इस पर्वत पर चढ़ने की कोशिश की थी लेकिन वह रहस्यमय तरीके से गायब हो गए थे। आज तक उन पर्वतारोहियों का कुछ अता पता नहीं चल पाया है। अगर आप कैलाश पर्वत के बहुत नजदीक पहुंच जाते हैं तो आपको एक आवाज सुनाई पड़ती है बहुत से लोगों ने इस बात की पुष्टि की है उन्होंने कहा है कि उन्हें यह डमरु और ओम की आवाज जैसी लगती है। गौर करने वाली बात यह है कि लगातार यह आवाज कैलाश पर्वत से आती रहती है। वैज्ञानिकों का मानना है कि यह आवाज बर्फ के पिघलने की हो सकती है।

About Mohit Swami

Leave a Reply

Your email address will not be published.