Breaking News
Home / खबरे / गणपति के चेहरे वाले बच्चे के जन्म के पीछे की हकीकत, कितना सच! कितना झूठ!

गणपति के चेहरे वाले बच्चे के जन्म के पीछे की हकीकत, कितना सच! कितना झूठ!

इन दिनों सोशल मीडिया पर एक अनोखे बच्चे की फोटो शेयर की जा रही है जो काफी वायरल हो गई है। फोटो डालने के बाद साथ में लिखा है कि “गणपति जैसे चेहरे वाला बच्चा पैदा हुआ है”। आपको बता दें कि जो फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की गई इसमें चेहरे पर नाक की जगह हाथी के सूंड जैसी आकृति दिखाई दे रही है। इसी के साथ हाथ और पैर भी सामान्य नजर नहीं आ रहे हैं। इसलिए लोग इसको गणपति का अवतार मान रहे हैं। आपको बताते हैं इस खबर में कितनी सच्चाई है और कितना झूठ है।

गणपति जैसे चेहरे वाले बच्चे के पीछे क्या है राज

सोशल मीडिया पर डाली गई पोस्ट में भगवान श्री गणेश के चेहरे से मिलते जुलते एक बच्चे की तस्वीर है जिसमें बच्चे का चेहरा भगवान गणपति से काफी मिलता हुआ नजर आ रहा है। क्योंकि इसमें नाक की जगह सूंड और हाथ तथा पैर भी सामान्य नजर नहीं आ रहे हैं। इस फोटो के सोशल मीडिया पर आने के बाद लोगों में हड़कंप मच गया और काफी लोग तो इस बच्चे को भगवान का अवतार समझकर सोशल मीडिया पर ही आशीर्वाद लेने लग गए। लेकिन किसी को भी इस बात का पता नहीं कि यह बच्चा किस जगह पैदा हुआ और कब पैदा हुआ है। जो फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही है वह वास्तव में असली फोटो नहीं है जबकि एक कलाकार के द्वारा बनाई गई एक कलाकृति है।

इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज़ वार रूम ने किया खुलासा

जब गणपति जैसे चेहरे वाले बच्चे की फोटो वायरल होने लगी तो इंडिया टुडे के एंटी फैक्ट चेक सिस्टम ने इसकी जांच पड़ताल की और पाया कि जो फोटो इंटरनेट पर शेयर की गई है वह है असली फोटो नहीं है बल्कि ऑस्ट्रेलिया के एक कलाकार पेट्रिशिया पीचीनिनी ने इसे बनाया है।

ऑस्ट्रेलिया के रहने वाले पेट्रिशिया पीचीनिनी ने 29 नवंबर 2019 को अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर फोटो शेयर की। इसी के साथ उन्होंने इस फोटो के बारे में जानकारी भी दी और बताया कि “इस कलाकृति को बनाने के लिए सिलिकॉन फाइबरग्लास और इंसानी बाल जैसी चीजों का उपयोग किया गया था”। इसके साथ ही उन्होंने कैप्शन में लिखा न्यू बॉर्न 2010 जिसका मतलब है कि यह कलाकृति उन्होंने 2010 में बनाई थी। इस बात से यह साबित होता है कि यह कोई वास्तविक गणपति शक्ल वाला बच्चा नहीं है बल्कि एक कलाकार की बनाई हुई कलाकृति है जिसे वास्तिविक फोटो बताकर भ्रम फैलाया जा रहा है।

About Mohit Swami

Leave a Reply

Your email address will not be published.