Breaking News
Home / खबरे / धोनी और विराट ना कर पाए जो काम वह कर दिखाया शिखर धवन ने अपनी पहली बार कप्तानी में, रच दिया ये नया इतिहास

धोनी और विराट ना कर पाए जो काम वह कर दिखाया शिखर धवन ने अपनी पहली बार कप्तानी में, रच दिया ये नया इतिहास

भारत और वेस्टइंडीज के बीच एकदिवसीय मुकाबलों की श्रृंखला समाप्त हो चुकी है। तीन मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला में भारतीय टीम ने अपने युवाओं के शानदार प्रदर्शन की बदौलत वेस्टइंडीज को 3-0 से हराने में सफलता प्राप्त की। हालांकि शिखर धवन की कप्तानी में जब भारतीय टीम वेस्टइंडीज पहुंची थी तब यह इतना आसान नजर नहीं आ रहा था क्योंकि वेस्टइंडीज की जमीन पर जाकर उसी को हराना इतना भी आसान नहीं होता। शिखर धवन भी भारतीय टीम की कप्तानी पहली बार कर रहे थे और उनके लिए यह इतना आसान नहीं था क्योंकि टीम में कई सीनियर खिलाड़ी भी मौजूद नहीं थे लेकिन इन सब के बावजूद भी शिखर धवन ने अपनी अगुवाई में वह कारनामा कर दिखाया जो आज तक भारत का कोई भी सफल कप्तान नहीं कर सका है। आइए आपको बताते हैं शिखर धवन ने क्या कारनामा कर दिखाया जो आज तक धोनी और गांगुली जैसे कप्तान भी नहीं कर सके.

शिखर धवन ने अपनी कप्तानी में बना दिया यह रिकॉर्ड, छोड़ दिया धोनी और विराट को भी पीछे

हाल ही में हुए वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन मुकाबलों की एकदिवसीय श्रृंखला ने भारतीय चयनकर्ताओं की परेशानियां बढ़ा दी हैं। इस श्रृंखला में भारतीय टीम के कई युवा खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन करके वर्ल्ड कप के लिए अपनी दावेदारी पेश की है। इस श्रृंखला में शिखर धवन पहली बार इंटरनेशनल क्रिकेट में कप्तानी संभाल रहे थे और पहली बार की ही कप्तानी में उन्होंने रिकॉर्ड बनाते हुए वेस्टइंडीज का क्लीन स्वीप कर दिया। शिखर धवन भारतीय क्रिकेट टीम के इकलौते ऐसे कप्तान बन चुके हैं जो वेस्टइंडीज को उसी के घर में घुसकर क्लीन स्वीप कर चुके हैं और ऐसा कारनामा करने वाले वह पहले कप्तान है। इससे पहले भारत के सर्वश्रेष्ठ कप्तानों में शुमार किए जाने वाले धोनी सौरव गांगुली और विराट कोहली भी ऐसा कारनामा नहीं कर सके थे। आइए आपको बताते हैं किन खिलाड़ियों की बदौलत धवन ने यह कीर्तिमान स्थापित कर लिया.

शिखर धवन को मिला अपनी कप्तानी में इन खिलाड़ियों का साथ, रच दिया ये नया इतिहास

वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन एकदिवसीय मुकाबलों के श्रृंखला में क्लीन स्वीप करने के बाद भारतीय टीम का आत्मविश्वास इन दिनों बहुत ऊपर है। शिखर धवन के लिए हालांकि यह सब इतना आसान नहीं होने वाला था लेकिन टीम के कुछ युवा खिलाड़ियों ने इतना शानदार प्रदर्शन किया जिससे सभी हैरत में आ गए। सलामी बल्लेबाज के रूप में शुभमन गिल ने लगातार शानदार पारियां खेली जो इस बार जो इस श्रृंखला की खोज रहे वही आखिरी मुकाबले में यूज़वेंद्र चहल ने अपनी फिरकी का जादू चलाते हुए सिर्फ 17 रन देकर चार विकेट अपने नाम कर लिया जिसके कारण धवन इस श्रृंखला में क्लीनस्वीप करने में कामयाब रहे। अपने खिलाड़ियों के अलावा खुद शिखर धवन ने भी आगे से आकर रन बनाए और 3 एकदिवसीय मुकाबलों में उन्होंने 2 शानदार अर्धशतक बनाए जो दर्शाता है कि उन्होंने कप्तानी के दबाव को झेलते हुए भी शानदार तरीके से रन बनाएं। एकदिवसीय श्रृंखला के बाद भारतीय टीम टी20 मुकाबलों में वेस्टइंडीज से भिड़ेगी।

About Nausheen Ejaz

Leave a Reply

Your email address will not be published.