Breaking News
Home / खबरे / पति की शहादत के बाद इन महिलाओं ने सेना में भर्ती होने का फैसला किया, कहानी जानकर होगा गर्व

पति की शहादत के बाद इन महिलाओं ने सेना में भर्ती होने का फैसला किया, कहानी जानकर होगा गर्व

भारत एक लोकतांत्रिक देश है और भारत की संप्रभुता और अखंडता को बनाए रखने के लिए भारत की सीमा पर देश की रक्षा करने के लिए सेना तैयार रहती हैं। पाकिस्तान की ओर से काफी बार फायरिंग की जाती है और भारत पर हमले किए जाते हैं जिनमें काफी सैनिक सहित भी हो जाते हैं। देश के लिए शहीद होना एक गर्व की बात होती है लेकिन एक परिवार के लिए गर्व की बात होने के साथ-साथ है एक दुख भी होता है कि वह अपना बेटा या पति या पिता खो देते हैं। आज आपको ऐसी 8 महिलाओं के बारे में बताते हैं जिनके पति के शहीद होने के बाद उन्होंने भी सेना में ही भर्ती होकर देश की सेवा करने का फैसला लिया।

निकिता कौल

साल 2019 में 18 फरवरी को पुलवामा अटैक हुआ था जिसमें काफी सैनिक और अफसर शहीद हो गए थे। जहां एक और पूरी दुनिया में वैलेंटाइन मनाया जा रहा था वहीं दूसरी ओर भारत के लिए 18 फरवरी एक काला दिन बनकर सामने आया। इस अटैक में मेजर ढौंडियाल भी शहीद हो गए थे जिसकी शादी मात्र 9 महीने पहले निकिता के साथ हुई थी इस अटैक ने निकिता को झकझोर कर रख दिया। लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और अपनी नौकरी को छोड़कर देश की सेवा करने का फैसला किया और अब लेफ्टिनेंट के पद पर सेना में कार्यरत हैं।

गरिमा अबरोल

भारतीय एयरफोर्स में स्क्वाड्रन लीडर समीर की शादी वर्ष 2015 में गरिमा के साथ हुई थी समीर गाजियाबाद के रहने वाले हैं। शादी के मात्र 4 वर्ष बाद ही मिराज 2000 के दुर्घटनाग्रस्त होने से समीर की मृत्यु हो गई और वह देश के लिए शहीद हो गए इसके बाद उनकी धर्मपत्नी गरीब माने एसएसबी क्लियर किया और फिलहाल आर्मी में कार्यरत हैं

गौरी प्रसाद महादिक

बिहार के रहने वाले बिहार रेजीमेंट के मेजर गणेश प्रसाद की शादी गौरी प्रसाद से हुई लेकिन भगवान को इन दोनों का साथ ज्यादा समय तक मंजूर नहीं था। शादी के 2 साल बाद ही भारत और चीन के मध्य विवाद में मेजर गणेश प्रसाद शहीद हो गए इसके बाद उनकी पत्नी गौरी प्रसाद ने सेना में भर्ती होकर देश की सेवा करने का फैसला किया और आज वह लेफ्टिनेंट के पद पर कार्यरत हैं।

संगीता मल्ल

संगीता मल्ल की शादी शिशिर के साथ 2013 में हुई। दोनों एक दूसरे को बचपन में स्कूल टाइम से ही जानते थे। इसके बाद शिशिर ने गोरखा राइफल ज्वाइन कर ली और संगीता एक शिक्षिका बन गई। शादी के 2 साल बाद शिशिर की पोस्टिंग जम्मू कश्मीर में बारामूला सेक्टर में हो गई जहां आतंकवादियों के साथ झड़प में वह शहीद हो गए इसके बाद संगीता ने आर्मी जॉइन करने का फैसला किया और आज सेना में देश की सेवा कर रही है

नीरू संब्याल

नीरू का विवाह राइफलमैन रविंद्र के साथ हुआ इसके बाद दोनों के एक बेटी भी हुई लेकिन वर्ष 2015 में एक मुठभेड़ में रविंद्र शहीद हो गए इसके बाद अपने बेटी के लालन-पालन के लिए नीरू ने आर्मी जॉइन किया और अब वह लेफ्टिनेंट के पद पर कार्यरत हैं।

प्रिया सोमवाल

प्रिया सोमवाल का विवाह है वर्ष 2006 में अमित सोमवाल के साथ हुआ इसके बाद अमित तवांग में पोस्टेड थे और एक ऑपरेशन आर्किड के दौरान शहीद हो गए इसके बाद प्रिया ने देश के लिए सेवा करने का फैसला किया।

स्वाति महादीक

स्वाति महादीक का विवाह राइफल के कमांडिंग आफिसर कर्नल संतोष महादिक के साथ हुआ। 2015 में लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में संतोष शहीद हो गए इसके बाद स्वाति ने अपने पति के पद चिन्हों पर चलते हुए आर्मी जॉइन किया और 37 साल की उम्र में लेफ्टिनेंट बनी।

शालिनी सिंह

शालिनी सिंह का विवाह अविनाश सिंह भदोरिया के साथ हुआ दोनों के एक बेटा भी था लेकिन वर्ष 2001 में आतंकवादियों के साथ लड़ाई करते हुए अविनाश ने देश के लिए अपने प्राण त्याग दिए। इसके बाद शालिनी ने देश की सेवा करने का निश्चय किया और 2002 में भारतीय आर्मी को ज्वाइन किया। अब रिटायरमेंट के बाद भी वह काफी लोगों के लिए प्रेरणा है।

About Mohit Swami

Leave a Reply

Your email address will not be published.