Breaking News
Home / खबरे / 8 लड़कियां लाई गोल्ड मेडल 5 पुलिस कांस्टेबल एक ही घर की 13 लड़कियों ने किया गांव का नाम रोशन

8 लड़कियां लाई गोल्ड मेडल 5 पुलिस कांस्टेबल एक ही घर की 13 लड़कियों ने किया गांव का नाम रोशन

आज के समय में भारत देश में महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए बहुत से कदम उठाए जा रहे हैं। आधुनिक भारत में महिलाएं काफी शिक्षित हो चुकी हैं और वह हर क्षेत्र में पुरुषों के बराबर कार्य कर रही हैं। हमेशा सही कहा जाता है कि अगर महिलाओं को मौका मिले तो वह सब कुछ कर सकती हैं जो एक पुरुष नहीं कर सकता। महिलाएं आज के समय में अपने मेहनत और लगन के दम पर उस मुकाम पर पहुंच चुकी हैं जो शायद हर किसी के लिए करना मुमकिन ना हो। आज के समय देश की बेटियां ओलंपिक में जाकर भारत के लिए गोल्ड मेडल जीतकर पूरे भारत का नाम रोशन करती हैं। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से भारत की कुछ ऐसी ही बेटियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने अपनी मेहनत और लगन के दम पर अपने गांव का नाम रोशन किया है।

राजस्थान की रहने वाली 8 बहने ला चुकी हैं गोल्ड

आपकी जानकारी के लिए बता देगी राजस्थान के चूरू जिले की रहने वाली यह 8 बहने एथलीट में अपना एक अलग नाम बना चुके हैं यह आठों बहने नेशनल लेवल की एथलीट प्लेयर हैं और इन्होंने अपनी मेहनत और लगन के दम पर है अपने गांव और परिवार का नाम रोशन किया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार इन्होंने अपने खेत को ही खेल का मैदान बना लिया जहां पर इन्होंने जी तोड़ परिश्रम कर यह सफलता पाई है।

पांच बहने बन चुके हैं पुलिस कॉन्स्टेबल

इन 8 बहनों में से पांच बहने पुलिस कॉन्स्टेबल बन चुकी है। गांव वालों ने कहा है कि हमें हमारी बेटियों पर गर्व है इन्होंने ना बल्कि अपने पिता और परिवार का अपितु पूरे गांव का नाम भी रोशन किया है। नेशनल लेवल पर गोल्ड लाने के बाद इनमें से अधिकतर बहने समाज सेवा और सरकार की सेवा में जुट गई हैं आपकी जानकारी के लिए बता दे की पांच बहनों को पुलिस में जॉब मिली है पुलिस में यह कॉन्स्टेबल बंद करें सरकार में अपना योगदान दे रही हैं।

सरोज जीत चुकी है 30 बार गोल्ड

इनमें से एक बहन ऐसी है जो 30 बार गोल्ड मेडल जीत चुकी है जो अभी पुलिस कांस्टेबल के रूप में सरकारी नौकरी में लगी हुई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार वह लगभग 10 सालों से खेलों में अपनी रुचि दिखा रही हैं और लगातार अपने गांव और राज्य के लिए गोल्ड मेडल लेकर आ रही हैं। सरोज पर उनका पूरा गांव गर्व करता है।

About Mohit Swami

Leave a Reply

Your email address will not be published.