Breaking News
Home / देश दुनिया / कैसे चाय बेचने वाले का लड़का बन गया आईएस ,जाने पूरी कहानी

कैसे चाय बेचने वाले का लड़का बन गया आईएस ,जाने पूरी कहानी

हम में से कई लोग ऐसे होते है जो जिन्दगी में बहुत कुछ करना चाहते है, लेकिन कई बार हम कुछ भी नही कर पाते है. जब हम किसी चीज़ में असफल हो जाते है तो हम हमारी किस्मत और आर्थिक स्थिती को दोष देते है की अगर हमारी किस्मत या आर्थिक स्थिती ठीक होती तो हम भी यह कर सकते थे. लेकिन दोस्तों ये बिलकुल भी सही बात नही है आज हम जिस व्यक्ति की कहानी बताने जा रहे है उनकी कहानी पढने के बाद आप भी कहेंगे की वाकई काबिल व्यक्ति ही सफलता पा सकता है.

हम यहाँ आज किसी ऐरे गैर व्यक्ति की बात नही कर रहे है बल्कि आज हम बात कर रहे है देश की सबसे कठिन परीक्षाओ में से एक UPSC क्लियर करने वाले एक होनहार आईएएस अफसर की. जिस व्यक्ति की हम बात कर रहे है उन्होंने आईएएस अधिकारी बनने के लिए किसी भी प्रकार की कोचिंग नही ली है बल्कि उन्होंने अपने बूते पर पढाई करके ऐसी बड़ी उपलब्धि प्राप्त करी है. अगर आप भी उनकी कहानी में रूचि रख रहे है तो आइये आपको बताते है आईएएस अफसर देशल की कहानी.

देश्ल २०१७ बैच के आईएएस अधिकारी है, इन्होने पहले ही साल में upsc जैसे कठिन एग्जाम को क्रैक कर लिया और ना सिर्फ क्लियर करा बल्कि upsc के एग्जाम में इन्होने अच्छा स्थान भी प्राप्त किया. देश्ल एक बेहद गरीब घर से आते है जहाँ पर खाने तक की दिक्कत हुआ करती थी. ऐसे में किसी व्यक्ति का शिक्षित होना तो बहुत बड़ी बात है. देश्ल ने एक इंटरव्यू में बताया की उनके घर में माता पिता अलावा वो 7 भाई बहन है. इन 7 भाई बहनों में से देश्ल और और एक भाई और है जो शिक्षित है. देश्ल बताते है की उनके परिवार को इस बात का अंदाजा भी नही है की देश्ल ने क्या हासिल करा है. वे बताते है की हमारे परिवार में कोई आईएएस का मतलब भी नही जानता था ऐसे में इसको क्लियर करना तो एक सपने जैसा है.

बिना कोचिंग क्लियर करा एग्जाम

देश्ल बताते है की जब वो १०वि कक्षा में थे तब से उनके भाई ने देश्ल को बताया था की आपको एक सिविल सर्वेंट बनना है. अपने भाई की बात देश्ल के दिमाग में बैठ चुकी थी और देश्ल से तब से ही अपना अधिकतर समय पढाई में दिया. आज देश्ल की पढाई का नतीजा सामने है.
आपको बतादे देश्ल के बड़े भाई भारतीय नौ सेना में थे लेकिन किसी कारण वर्ष on ड्यूटी ही देश्ल के भाई की डेथ हो गयी. जिसके बाद देश्ल का परिवार टूट सा गया था. लेकिन देश्ल ने upsc क्लियर करने के बाद अपने भाई का सपना पूरा करा और आज देश्ल का परिवार एक अच्छी जिन्दगी जी आ रहा है. देश्ल का कहना है की उनका परिवार देश्ल पर काफी गर्व महसूस करता है जब देश्ल दुसरो से सम्मना प्राप्त करते है. देश्ल २०१७ से निरतर देश की सेवा कर रहे है और उन्होंने अपना कार्य निस्वार्थ भावना से करा है.

About Mohit Swami

Leave a Reply

Your email address will not be published.